health benefits of corn flour | आइए जानते हैं कार्न फ्लोर या कार्नस्टार्च के बारे में

health benefits of corn flour

कॉर्न फ्लोर या कॉर्नस्टार्च एक ऐसा खाद्य पदार्थ है । जिसका उपयोग हमारे पसंदीदा खानो को बनाने के लिए किया जाता है। बाजार में मिलने वाले चाइनीस खाद्य पदार्थों और और कुकीज़ में कॉर्न फ्लोर का उपयोग किया जाता है। कॉर्नफ्लोर मक्के से तैयार किया जाता हैं। लेकिन कॉर्न फ्लोर, मक्के के आटे से भिन्न है। आइए जानते हैं किस प्रकार।

कार्न फ्लोर कैसे बनता हैं

मक्के के आटे को मक्के को सुखाकर पीसकर तैयार किया जाता है जबकि कॉर्न फ्लोर या कॉर्नस्टार्च को तैयार करने के लिए मक्के को रात भर पानी में भिगोकर रखा जाता है फिर सुबह उसके छिलके निकाले जाते हैं।

फिर मक्के को पीसा जाता है, जिससे कॉर्न फ्लोर तैयार होता है। मक्के का आटा हल्का पीला रंग लिए होता है। और दरदरा भरा होता है। जबकि कॉर्नफ्लोर चिकना और रवाहीन होता है।

कॉर्नस्टार्च का उपयोग घरों में रसोई में किया जाता है। वही फैक्ट्रियों में कुरकुरे इत्यादि बनाने में इसका उपयोग किया जाता है। कई प्रकार के चाइनीस आइटम जेसे चाउमीन, नूडल्स इत्यादि बनाने में इसका उपयोग किया जाता है।

इस कॉर्न फ्लोर से बनी चीजें स्वाद में अति उत्तम होती है इसके अतिरिक्त कॉर्नफ्लोर हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत लाभदायक होता है इससे कहीं प्रकार के फायदे होते हैं। जिनके विषय में आज हम चर्चा करेंगे साथ ही इसके सेवन से कुछ हानिया भी होती है। जिनको भी हम आपको बताएंगे तो आप इसके प्रति जागरूक हो जाएंगे।

कार्न फ्लोर से होने वाले फायदे

 आंखों के लिए फायदेमंद

कॉर्नफ्लोर हमारी आंखों के लिए बहुत फायदेमंद है। क्योंकि इसमें ल्यूटिन और जैक्सेथिन नामक पदार्थ पाए जाते हैं। जो आंखों के लिए लाभदायक होते हैं कई बार हमें इन पदार्थों की पूर्ति के लिए चिकित्सक द्वारा सुझाए गए ड्रॉप्स डालने पड़ते हैं तो उससे बेहतर है आप इनकी पूर्ति के लिए मक्के का उपयोग करें।

 आयरन की कमी दूर करें

कॉर्नफ्लोर के सेवन से हिमोग्लोबिन बढ़ता है। कॉर्न फ्लोर के सेवन से आप एनीमिया जैसी बीमारी से बच सकते हैं।

 कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में फायदेमंद

मकई के तेल में लिनोलेइक नामक एसिड पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायता करता है। मकई के तेल के सेवन से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत हद तक नियंत्रण में रहती है इसलिए चिकित्सक भी है सुझाव देते हैं कि आप घरों में तेल बदल-बदल कर उपयोग करें।

 हड्डियों को मजबूती देता है

कॉर्न फ्लोर अस्थियों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। कॉर्नफ्लोर के अंदर सॉल्युबल फाइबर पाया जाता है, और इसके अंदर कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है। जो अस्थियों के लिए और दातों के लिए लाभदायक है।

 पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है

मकई के अंदर विटामिन बी कांपलेक्स पाया जाता है। जो पाचक एंजाइम के स्त्रावण को बढ़ाता है। यदि मक्के का सेवन करते हैं तो यह आपके पाचन तंत्र के लिए बहुत ही लाभदायक होता है।

 डायबिटीज में उपयोगी है

कॉर्न फ्लोर शरीर में इंसुलिन के स्त्रावण को बढ़ा देता है और रक्त की शर्करा को नियंत्रण करने में सहायता करता है।

 त्वचा के लिए लाभदायक

मक्के के अंदर विटामिन बी कॉम्प्लेक्सपाया जाता है। और इसके अंदर बाकी अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं। यदि आप मक्के का सेवन करते हैं और इसके आटे का लेप लगाते हैं तो इससे भी आपकी त्वचा कोमल, सुंदर और स्वस्थ रहती है। साथ ही इसमें पाए जाने वाले विटामिन ए सी डी बी त्वचा के लिए बहुत लाभदायक होते हैं।

 बालों के लिए लाभदायकत

मकई में पाए जाने वाले मल्टीविटामिंस त्वचा के समान ही बालों के लिए भी पोषक वर्धक होते हैं।

 वजन कम करने में उपयोगी

बहुत से लोग अपने बढ़ते वजन के कारण परेशान रहते हैं यदि आप मक्के का सेवन करते हैं तो इसमें पाया जाने वाला फाइबर आपके शरीर में फेट को नहीं बढ़ने देता और शरीर को पर्याप्त पोषण भी प्रदान करता है। जिससे आपके वजन में अत्यधिक वृद्धि नहीं होती है ,और आप दिन भर ऊर्जावान भी रहते हैं।

 कॉर्नफ्लोर से होने वाले दुष्प्रभाव

•अधिक मात्रा में कॉर्नफ्लोर का सेवन करने से डाइजेशन में दिक्कत हो सकती है।

•अधिक मात्रा में कॉर्नफ्लोर का सेवन करने से शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है। जो आपके लिए घातक सिद्ध हो सकती है।

•यदि आप कॉर्न फ्लोर का ज्यादा सेवन करते हैं कि आपके वजन में आवश्यकता से अधिक कमी ला देगा और यदि आप खुद का वेट लॉस करना चाहते हैं तो कॉर्नफ्लोर का ज्यादा उपयोग ना करें।

Leave a Comment