यह कहानी आपके जीवन को खूबसूरत बना देगी-Motivational story

Motivational story

Introduction

एक व्यक्ति हर दिन सवेरे सवेरे घूमने को निकल जाता I पहाड़ों के पास वहां के चारों ओर के हरियाली को निहारता पंछियों के मधुर आवाजों को सुनता I और प्रकृति के खूबसूरत नजारे का आनंद लेता I

एक दिन की बात है वह व्यक्ति सवेरे सवेरे ऐसे ही घूमने को निकला ही था तभी I पीछे से उसका छोटा सा बच्चा भी उसके साथ घूमने को निकल पड़ा उसने अपने पापा के अंगुली को जोर से पकड़ लिया I  और वह बच्चा जाने लगा जाते-जाते जब वहां पहुंच गए तब बच्चे का ध्यान दूसरी और था I इसीलिए चलते चलते उस बच्चे का पांव एक पत्थर से टकराया और वह गिर पड़ा और उस बच्चे को दर्द हुई और उस बच्चे ने चिल्लाया आ आ आ ,

जब बच्चे ने चिल्लाया तब इस बच्चे की आवाज पहाड़ों पर गूंजने लगी इससे पहले I बच्चे ने कभी भी अपनी आवाज की गूंज नहीं सुनी थी  जब बच्चे ने उस गूंज को सुना तब वह घबरा गया I उसने सोचा शायद कोई है जो उसे छिप कर देख रहा है और उसका मजाक उड़ा रहा है I

फिर उस बच्चे ने बोला कौन हो तुम फिर जब उस बच्चे ने उस गूंजते हुए आवाज को सुना उसे बहुत गुस्सा आया I बच्चा गुस्से में सोचने लगा कौन है I यह जो मेरा मजाक उड़ाए जा रहा है फिर उस बच्चे ने गुस्से में चिल्ला कर कहा मैं तुम्हें छोडूंगा नहीं I फिर उसके गूंज उसी को सुनाई दी मैं तुम्हें छोडूंगा नहीं मैं तुम्हें छोडूंगा नहीं I

बच्चे ने जैसे ही इस गूंज को सुना वह घबरा गया उधर उसके पिता समझ गए थे I कि क्या हो रहा है और वह मन ही मन मुस्कुरा रहे थे बच्चे ने अपने पिता का हाथ कस के पकड़ लिया I और फिर अपने पिता से पूछने लगा कौन है यह ? जो मुझे तंग कर रहा है और मेरा नकल उतार रहा है और मुझे इतना डरा रहा है  I

उसके पिता उसको देखते हुए मुस्कुराए और फिर उसके पिता ने जोर से चिल्ला कर कहा मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं I यह सुनकर वह बच्चा हैरान हो गया उसे समझ में नहीं आ रहा था कि वही इंसान जो उसका मजाक उड़ा रहा है I उसे तंग कर रहा है वही उसके पिता को कह रहा है मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं I पिता ने अपने बेटे को देखा और वह समझ गए कि उसके मन में क्या चल रहा है I

फिर उसके पिता ने बहुत जोर से कहा तुम बहुत अच्छे हो और फिर वही आवाज गूंजने लगी I लेकिन इस बार इस बच्चे ने सुनकर थोड़ा मुस्कुराया बच्चों को बिल्कुल भी समझ में नहीं आ रहा था कि क्या हो रहा है I

बच्चे ने बड़े उत्साह के साथ अपने पिता से पूछा कि यह क्या हो रहा है फिर उसके पिता ने अपने बच्चे को बड़े प्यार से समझाया I यह आवाज जो तुम सुन रहे हो ना I किसी और की नहीं है यह हमारी ही आवाज है जो पहाड़ों में गूंज रही है I और जब तुम बोलते हो ना तब तुम्हें अपनी ही आवाज सुनाई देती है जैसा तुम बोलते हो ठीक तुम्हें वैसा ही सुनाई देता है I

यदि तुम गुस्से में कुछ कहोगे तो पलट कर के जो आवाज आएगी उसमें भी गुस्सा होगा I लेकिन तुम जब कुछ अच्छा कहोगे तब वह आवाज भी अच्छी होगी ,

कहानी की सीख

इस कहानी के जैसे ही बिल्कुल हमारे जिंदगी में भी ऐसा ही होता है जैसा भी हम लोग अपने मन में अपनी जिंदगी के बारे में सोचते रहते हैं ठीक I उसी तरह हमारी जिंदगी भी हो जाएगी यदि हम मन ही मन यह सोचते रहेंगे कि हमारे जिंदगी तो बहुत बुरी है I तो हमारे जिंदगी सच में बुरी हो जाएगी I लेकिन यदि हम अपनी जिंदगी से प्यार करेंगे इसके बारे में अच्छा सोचेंगे तो हमारी जिंदगी भी अच्छी और खूबसूरत हो जाएगी I

Leave a Comment